महबूबा तेरे प्यार का आशियाना दिल में मेरे हमेशा सजता है.. तेरे देखने भर से मेरे दिल में इश्क़ का नगमा बजने लगता है !!

Madbestshayari.com

तुम्हारी यादों का कारवां मेरे मन में चल रहा है.. तेरे इश्क के नगमे पर मेरा दिल थिरक रहा है !!

तेरा मुस्कुराना जाना मेरे दिल में इश्क का दीदार जगाता है.. तुम्हारी मोहब्बत का ख्याल मेरे दिल में नगमा बजाता है !!

तुम्हारा ही चेहरा महबूबा मेरे दिलों जान में छिपा है.. तुम्हारे प्यार का हर नगमा मेरे खयालों में बसा है !!

ज़िंदगी का सफर बड़ा तवील हैं मेरी ये उम्र बड़ी क़लील हैं.. मेरे हर नगमे में हवाले तेरे मेरे इश्क की ये दलील हैं !!

तुम्हारी मोहब्बत का नशा अब हर कहीं दिखाई देने लगा है.. तुम्हारी चाहत का नगमा मुझे हर कहीं सुनाई देने लगा है !!

तेरे साथ गाया हुआ प्यार का हर नगमा मुझे याद आता है.. तुम्हारे साथ गुजारा हुआ हर पल, जानम मुझे आज सताता है !!

तेरी तारीफ में हम एक नगमा सुनाते रहे पर हम भी क्या करें जानेमन हमारे लफ्ज़ लड़खड़ाते गए !!